• Download Dailyhunt App

Sign UP / Sign In



 

Category

Home > Hindi > Alopathy Se Alu-Methi Tak

Alopathy Se Alu-Methi Tak ( ऐलोपैथी से आलू मेथी तक )

Author: डॉ. मोहनलाल गुप्ता

Hindi

20 ( 50% off)
10

  • My Rating


  • Review Title


  • Review Comment



To read this book you need to Download the Dailyhunt App on your phone. Available in Android, Windows & Iphone

इस व्यंग्य संग्रह में आठ व्यंग्य हैं जो भारतीय समाज की उपभोक्तावादी त्रासदी को लेकर लिखे गये हैं। भारतीय समाज तेजी से दो भागों में बंट रहा है। एक ओर अमीर भारत है तो दूसरी तरफ गरीब भारत। सरकारी योजनाओं की ऑक्सीजन अमीर और गरीब दोनों की भूख बढ़ा रही है। मध्यम वर्ग के लिये सरकार की झोली में शायद ही कुछ बचा है। इतिहास गवाह है कि दुनिया में बदलाव की पहल हमेशा मध्यम वर्ग करता है, यही क्रांति का पुरोधा बनता है और यही बलिदान देता तथा फांसी के फंदों पर झूलता है। इसलिये आजाद भारत में मध्यम वर्ग के खिलाफ बहुत बड़ी साजिश हुई है, इस वर्ग में कुछ को अमीरी की ओर ले जाओ और कुछ को गरीबी की ओर धकेला जा रहा है। न रहेगा बांस न बजेगी बांसुरी। भारतीय समाज में बढ़ता बाजार और उपभोक्तावाद मध्यम वर्ग को नष्ट करने के षड़यंत्र के बड़े औजार हैं।

  • Release Date:
  • Book Size: 198 KB
  • Language: Hindi
  • Category: Hasya Vinod

  • 2017-04-19 07:44:46.0

    Mazhar Ansari


  • 2016-05-09 22:41:52.0

    Bhanu Goyal






Top

If you want to read ebooks please download our app in your favorite mobile